म्यांमार में तख्तापलट के खिलाफ प्रदर्शन की कार्रवाई में सेना ने घर में घुसकर 7 साल की बच्ची को मारी गोली

    म्यांमार में तख्तापलट के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों के दमन में लगी सेना ने एक और दिल दहलाने वाली कार्रवाई की है। मांडले शहर में सेना ने पिता की गोद में बैठी 7 साल की मासूम को गोली मार दी। पुलिस की गोली से मरने वाली खिन मायो चित सबसे कम उम्र की पीड़ित है। प्रदर्शनकारियो की तलाश कर रही पुलिस ने छोटी बच्ची को गोली मार दी।

    मृतका के पड़ोसी सुमाया ने बताया पुलिस मंगलवार को प्रदर्शनकारियों की तलाश कर रही थी। कुछ पुलिस वाले आए और लात मारकर खिन के घर का दरवाजा खटखटाने लगे। खिन की बड़ी बहन ने दरवाजा खोला तो जवान घर में घुस गए और पूछने लगे पापा के अलावा घर में कौन-कौन है वही खिन की बहन ने कहा कोई नहीं। तब पुलिसकर्मी ने उसे झूठा बताकर पीटा। यह देख सामने खड़ी खिन डरकर घर में मौजूद पिता की गोद में बैठ गई। तब पीछे से आए पुलिसवालों ने पिता पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं और पिता की गोद में बैठी बच्ची को भी गोली लग जाती हैं और मौके पर ही दम तोड़ दिया।