मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर विस्फोटक मिलने के मामले में NIA आज सचिन वझे को कोर्ट में पेश करेगी

    नई दिल्ली: मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया केस में मुंबई पुलिस के असिस्टेंट इंस्पेक्टर सचिन वझे को NIA आज कोर्ट के सामने पेश करेगी। NIA कोर्ट से सचिन वझे की कस्टडी की मांग करेगी। वही इससे पहले ठाणे की सेशन कोर्ट ने शनिवार को सचिन वझे की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी। कोर्ट ने कहा था कि शुरुआती तौर पर उनके खिलाफ कुछ सबूत हैं।गिरफ्तारी से बचने के लिए वझे ने शुक्रवार को अग्रिम जमानत की याचिका दायर की थी। मामले की अगली सुनवाई 19 मार्च को होगी।

    सचिन वझे पर आरोप लगने के बाद महाराष्ट्र के गृह विभाग के आदेश पर उन्हें क्राइम ब्रांच से हटा दिया गया। उन्हें नागरिक सुविधा केंद्र में भेजा गया है। यह आदेश शुक्रवार 12 मार्च देर शाम जारी किया गया। वही गृह मंत्री अनिल देशमुख ने वझे का ट्रांसफर करने की भी बात की।

    सचिन वझे का नाम 25 फरवरी को एंटीलिया के बाहर से बरामद स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन की मौत से जुड़ा हुआ है। मनसुख की मौत के मामले में महाराष्ट्र ATS ने हत्या और आपराधिक साजिश रचने का केस दर्ज किया है। मनसुख की पत्नी विमला हिरेन ने वझे पर पति की हत्या में शामिल होने का आरोप भी लगाया है। यह आरोप विमला हिरेन ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे एक पत्र के जरिए लगाए थे।

    मुकेश अंबानी के एंटीलिया केस में मिला एक CCTV वीडियो, वीडियो में स्कॉर्पियो के पास नजर आया PPE किट पहना शख्सhttps://hanuraonews.com/mukesh-ambani-antilia-case-news-update/

    विमला ने सचिन वझे पर हत्या का आरोप लगाया
    एंटीलिया के पास स्कार्पियो मिलने के एक सप्ताह बाद मनसुख हिरेन का शव उनके घर से सात किलोमीटर दूर ठाणे की समुद्री खाड़ी में पाया गया। इसके बाद उनकी पत्नी ने खुलासा किया कि स्कार्पियो कार पिछले चार महीने से सचिन वझे ही इस्तेमाल कर रहे थे। उन्होंने ATS को दर्ज कराए अपने बयान में भी सचिन वझे पर ही हत्या का शक जाहिर किया है।

    हिरेन ने कहा था कि उन्होंने वाहन को सड़क पर छोड़ दिया था क्योंकि उसकी स्टीयरिंग 17 फरवरी की रात को जाम हो गई थी। सूत्रों ने बताया कि इस बीच शुक्रवार को NIA की एक टीम मामले से संबंधित जानकारी हासिल करने के लिए ठाणे के पुलिस अधिकारियों से मुलाकात करने पहुंची थी। हिरेन की मौत की जांच कर रही महाराष्ट्र ATS ने भी ठाणे में कुछ व्यक्तियों के बयान दर्ज किए हैं। NIA और ATS को लेकर एक बार फिर केंद्र सरकार और राज्य सरकार आमने-सामने आ गए हैं। मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा हैं जब मोदी सरकार केस को ATS से लेकर NIA को देती है तो समझ लो कुछ गड़बड़ है जब तक हम इसे उजागर नहीं करते, हम हार नहीं मानेंगे।