एंटीलिया केस : सांसद नारायण राणे ने कहा- सचिन वझे के गॉडफादर हैं उद्धव ठाकरे, महाराष्ट्र गृहमंत्री अनिल देशमुख एनसीपी चीफ शरद पवार से मिले

    मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया केस में महाराष्ट्र राजनीति में सियासी बवाल मच चुका है। वही शुक्रवार को महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने शरद पवार से दिल्ली में मुलाकात की है। लगभग एक घंटे की मुलाकात के बाद बाहर निकले देशमुख ने सिर्फ इतना कहा कि वे नागपुर में बनने जा रहे एक प्रोजेक्ट को लेकर पवार से मिले। वही इस दौरान जब मीडिया ने जब इनसे एंटीलिया केस के बारे में सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि मामले में NIA और ATS लगातार जांच कर रही हैं। राज्य सरकार इस मामले में दोनों एजेंसियों को पूरा सहयोग कर रही है। मैंने मुंबई में हुए घटनाक्रम के बारे में पवार साहब को जानकारी दी है।

    कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने अपनी गठबंधन सरकार पर सवाल खड़े किये
    वही उधर कांग्रेस के नेता भी सवाल करना खड़े कर दिए हैं। आपको बता दे महाराष्ट्र सरकार कांग्रेस-शिवसेना-एनसीपी की गठबंधन सरकार हैं। लेकिन वही कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने भी एंटीलिया केस को लेकर कहा कि शिवसेना पूर्व मुंबई कमिश्नर परमबीर सिंह की जय-जयकार कर रही है। लेकिन गृह मंत्री अनिल देशमुख जो NCP के हैं वो कल बोले थे कि कमिश्नर सिंह ने गलती की थी। यह विरोधाभासी बयान महाराष्ट्र सरकार की इमेज और खराब करेगी। निरुपम ने कहा कि सचिन वझे कांड की जांच से अब तक समझ में आया है कि यह सत्ता प्रायोजित हफ्ता वसूली कांड है। उन्हाेंने सवाल किया कि इसके तार शिवसेना से जुड़े हैं क्या?

    मुख्यमंत्री के इस्तीफे और राष्ट्रपति शासन के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा- सांसद नारायण राणे लेकिन वही दूसरी तरफ संसद भवन के बाहर राज्यसभा सांसद नारायण राणे ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सचिन वझे के गॉडफादर हैं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ठीक से काम नहीं कर रही है सब कुछ अधिकारियों की इच्छा पर किया जाता है। मुकेश अंबानी बिजनेसमैन जैसा व्यक्ति मुंबई में असुरक्षित है। खराब कानून-व्यवस्था की स्थिति और भ्रष्टाचार के कारण, मैंने राज्य में मुख्यमंत्री के इस्तीफे और राष्ट्रपति शासन के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा है।