बाटला हाउस एनकाउंटर में कोर्ट ने आरिज खान को दोषी पाया, भाजपा ने कांग्रेस को आतंकियों के समर्थन वाली पार्टी बताई

    बाटला हाउस एनकाउंटर केस में सोमवार को आए कोर्ट के फैसले के बाद भाजपा ने कॉन्फ्रेंस कर विपक्ष पर सवाल उठाए हैं। मंगलवार को भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कांग्रेस आतंकियों के साथ खड़ी हो गई थी और सवाल किया कि अब जबकि आरिज खान दोषी करार दिया गया है तो अब सोनिया गांधी आंसू बहा रही हैं या नहीं?

    इस मामले में आरिज खान को धारा 302, 307 और आर्म्स एक्ट में दोषी करार दिया है। सजा का ऐलान 15 मार्च को होगा। दिल्ली में 2008 की साल में हुए बाटला हाउस एनकाउंटर केस के बाद आरिज भाग गया था 2018 में उसे नेपाल से गिरफ्तार किया गया था। रविशंकर प्रसाद ने कहा मोदी सरकार के आने के बाद ही ये पकड़ा गया हैं।

    रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा बाटला हाउस की घटना में दिल्ली पुलिस के कई लोगों ने हमसे परोक्ष संपर्क किया कि हमें बचाइए। आपने सलमान खुर्शीद का बयान तो सुना ही होगा कि कहा दो आतंकी मारे गए, तो सोनिया गांधी की आंखों में आंसू आ गए। अब साबित हो गया कि कांग्रेस आंतकियों का समर्थन करती है। यह वोट बैंक की राजनीति की गई। मैंने कहा था सोनियाजी आप से सवाल करना चाहता हूं कि दिग्विजय जी सेना के अफसर को अशोक चक्र दिए जाने पर आजमगढ़ में सवाल उठा रहे हैं। वही ममता बनर्जी को लेकर भी सवाल उठाएं। प्रसाद ने कहा- ममता ने मीडिया से कहा था की पॉलिटिक्स छोड़ दूंगी। एनकाउंटर को इन सभी ने नेशनल मुद्दा बनाया था।

    सोनिया-केजरीवाल-ममता को माफी मांगनी चाहिए
    प्रसाद ने आगे कहा कि घटना के विरोध में केजरीवाल जी भी शामिल थे। उन्होंने भी जांच की मांग की थी। यह सब वोट बैंक की राजनीति के लिए हुआ था। आज जब देश की न्यायिक प्रक्रिया से एक बहुत बड़े आतंकवादी को 100 से अधिक गवाही, साइंटिफिक एविडेंस, मेडिकल एविडेंस के आधार पर बड़ी सजा मिली है तो क्या ये सभी पार्टियां देश की जनता के सामने माफी मांगेगी? केजरीवाल से पूछूंगा कि क्या आतंकवाद के मामले में हम एक स्वर में नहीं बोल सकते थे?

    बता दे 2008 में दिल्ली में कई जगह सीरियल ब्लास्ट हुए थे जिसमें 39 लोग मारे गए और 159 लोग जख्मी हुए थे। और दिल्ली पुलिस आतंकियों को ढूढ़ने के लिए सर्च ऑपरेशन कर रही थी तभी पता चला था की जामिया के बाटला हाउस में आतंकी छुपे हुए हैं जब बाटला हाउस में पुलिस ने कार्रवाई की तो उसमें दो आतंकी मारे गए थे और एक पुलिस इंस्पेक्टर शहीद हो गए थे और वही आरिज खान वहां से भाग गया था बाद में साल 2018 में नेपाल से पकड़ा गया था।